Home संगीतकार अनिल नागौरी जीवन परिचय Anil Nagori Biography In Hindi

अनिल नागौरी जीवन परिचय Anil Nagori Biography In Hindi

329
Anil Nagori biography jivani

आज के इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं अनिल नागौरी के जीवन परिचय के बारे में, हम इस पोस्ट में आपको Anil Nagori Biography, Jivani, Family, Education, Career, Income की शुरूआत के बारे में इस पोस्ट में आपको बताएंगे।

Anil Nagori Biography And Wiki

नाम अनिल नागोरी
जन्म 2003
उम्र 18
स्थान मध्यतारण, नागौर राजस्थान
उपनाम बाल कलाकार
शौक खेलना, पढ़ना , गाना
पिता श्री जसमल जी
पैशा गायक कलाकार
शिक्षा 12 वी पास
संगीत गुरु अभयदान जी महाराज
धर्म हिन्दू
नागरिकता भारतीय
अवार्ड 2018 कला रत्न
वैवाहिक स्थतिअवैवाहित
कुल गाने 400+
सपना Bollywood Singer
पहला गीत लीलो लीलो घोड़ो बाबा रो
पसंददीदा सिंगर रामनिवास राव

Anil Nagori Social media Account

Social Media NameUser IDFollowers
Instagram anilnagoriofficial137k followers
YouTubeNMG STUDIO NOKHA12.9 lakh Subscribe
Facebookanil nagori 7.8 lakh Followers
TwitterNot KnowNot Know

Anil Nagori Biography

आज राजस्थान में बहुत सारे ऐसे कलाकार हैं जिन्होंने अपनी पहचान  अपने हुनर के दम पर बनाई है  इसमें एक नाम अनिल नागौरी का भी आता है अनिल नागौरी ने बहुत ही कम उम्र में अपनी आवाज से संगीत के क्षेत्र में एक नया मुकाम हासिल किया है इन्होंने अपने भजनों के माध्यम से लोगों के दिलों में अपनी एक अलग ही पहचान बनाई है। 

सही कहा जाता है कि “पहचान किसी उम्र की मोहताज नहीं होती” जिस तरीके से बहुत ही कम उम्र में संगीत के क्षेत्र मे  सफलता हासिल की है अनिल नागौरी ने भी बचपन से ही अपने पिताजी से संगीत के बारे में शिक्षा हासिल की और आज यह बड़े-बड़े मंच पर अपने कार्यक्रम प्रस्तुत करते हैं जिसमें लाखों की संख्या में लोग इनके कार्यक्रम देखने के लिए आते हैं अनिल नागौरी एक प्रसिद्ध गायक कलाकार के रूप में पूरे राजस्थान में नहीं अपितु पूरे भारत में अपनी पहचान बना चुके हैं। 

 भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने भी उनकी भजन सुनने हैं तथा उनकी प्रशंसा की तथा अपने अकाउंट से उनकी फोटो पोस्ट करके उनको बधाई भी दी, अनिल नागौरी के भजन बहुत ही अच्छे होते हैं जिनको लोग सुनना पसंद करते हैं।  


अनिल  नागौरी को पूरे भारत में जगह जगह पर कार्यक्रम करने के लिए बुलाया जाता है और यह पूरे भारत में अपने भजनों के माध्यम से लोगों के दिलों में अपनी पहचान बना रहे हैं हाल ही में दुबई से भी एक ऑफर आया था कि वहां पर कार्यक्रम का आयोजन करें,  लेकिन कोरना  महामारी के कारण वहां पर नहीं जा पाए।  परंतु भविष्य में विदेशों में भी अपनी प्रस्तुति प्रदान करेंगे और वहां पर भी लोगों के दिलों में राज करेंगे, क्योंकि उनकी आवाज में जो जादू है अन्य किसी कलाकार में नहीं है। 

Read More :- प्रकाश माली जीवन परिचय

Anil Nagori Birth, Place, Family, Education

अनिल नागौरी का जन्म 2003 में मध्यतारण नागौर राजस्थान में हुआ।  मूल रूप से यह नागौर में ही अपना निवास करते हैं उनके पिताजी का नाम जसमल जी है , इन्हें ही अपना संगीत गुरु मानते हैं।  संगीत के क्षेत्र  में अनिल नागौरी को उनके पिताजी ने हि लाया, उनके पिताजी ने इनको संगीत की शिक्षा प्रदान की और इस काबिल बनाया। 

इनके परिवार में इनकी दो छोटी बहनें है  इन्होंने अभी हाल ही में अपनी 12वीं क्लास की पढ़ाई पूरी की है जब अनिल नागोरी मात्र 6 साल की थे तब इनके माता जी का देहांत हो गया और इनकी जिंदगी को पूरी तरीके से झकझोर  करके रख दिया, उन्होंने हार नहीं मानी और संगीत के क्षेत्र में अपने पिताजी के साथ मिलकर एक नया मुकाम हासिल किया। 

इनका धर्म हिंदू है और यह भारत के नागरिक है ।  शौक खेलना, कूदना, पढ़ना और गाने गाना का है।  अभी उनकी उम्र मात्र 18 साल हुई है लेकिन  कई उपलब्धियां हासिल कर रखी है इनको 2018 में कला रतन तथा 2018 में ही संगीत के क्षेत्र मे  राज्य में पहले स्थान से सम्मानित किया गया है ।  

Anil Nagori Career Journey

अनिल नागौरी के  कैरियर की शुरुआत बचपन से ही हो गई है क्योंकि अभी इनकी उम्र मात्र 18 साल की है और इतनी छोटी उम्र में भी उन्होंने अपने जुनून के बदौलत संगीत के क्षेत्र में लोगों के दिलों पर राज किया है लोग इनके  भजनों के दीवाने हैं। 

इनके जीवन में नया मोड़ तब आया जब ये मात्र 6 साल के थे तब उनके माता जी का देहांत हो गया, तब इन्होंने अपने पिताजी के साथ ही रहना प्रारंभ किया।  जब इनके पिता जी कहीं रात्रि जागरण में जाते तो यह उन को साथ में लेकर जाते हैं तभी से इन्होंने संगीत के सत्र में अपने आप को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित किया। 

उनके पिताजी भी हमेशा इनका पूरा सपोर्ट किया करते थे इन्हें संगीत की शिक्षा देना,  वीणा, हारमोनियम और पेटी बजाने के बारे में भी इनको सिखाया।  अनिल नागौरी इसी तरीके संगीत और कला को लोगों के साथ सामने प्रस्तुत किया और लोगों ने उनकी इस कला की बदौलत उनको काफी ज्यादा पसंद भी किया।  इसी तरीके से अनिल नागौरी हर बार अपने पिताजी के साथ जागरण में जाया करते थे और वहां पर कुछ न कुछ नया हमेशा सीखा करते थे।  इनके पिताजी ने इनका का सपोर्ट किया और इन को आगे बढ़ाने पूरी मेहनत की। 

इनके जीवन में नया मोड  साल 2016 में आया जब  बालोतरा के पास बालाजी मंदिर में एक रात्रि जागरण में प्रस्तुति देनी थी उस समय एक भजन गाया, जो काफी ज्यादा प्रसिद्ध हुआ और आज भी वह भजन यूट्यूब पर काफी ज्यादा देखा जाता है यह भजन   “लीलो लीलो घोड़ो बाबा हंसलो”  इस भजन को काफी ज्यादा प्रसिद्धि प्राप्त हुई, जब इन्होंने इस भजन को गाया तो काफी सारे लोगों ने इनकी आवाज को पसंद किया और उनके गायन कला को सराहना मिली।  

उसके बाद अनिल नागोरी के पास कहीं और ऑफर  आने लगे  कि वह रात्रि जागरण की प्रस्तुति दे, इस तरीके से कई और एल्बम निकालें जो काफी ज्यादा प्रसिद्ध हुए और इसी गीत से पहचान बन गई।  

छोटी सी उम्र में इस तरीके के गीत गाना सभी लोगों को काफी अच्छा लगा और इनकी आवाज काफी ज्यादा मधुर हो गई इस वजह से लोग इनकी आवाज को पसंद करने लगे और इन को रात्रि जागरण में बुलाया जाने लगा।  इस तरीके से बहुत ही कम उम्र में अपना नाम  बनाया और संगीत के सत्र में अपना नाम कमाया।  

जब उन्होंने पहली बार 2016 में बालोतरा  के पास ही भजन गया तब इनको पहचान तो हासिल हुई और इस गाने को MSD Music And Video  यूट्यूब चैनल द्वारा प्रसारित किया गया और यह काफी ज्यादा प्रसिद्ध हुआ। 
अनिल नागौरी का सबसे पसंदीदा सिंगर रामनिवास राव इनके वीडियो काफी ज्यादा सुनना पसंद करते हैं बॉलीवुड में अक्षय कुमार के काफी ज्यादा पसंद कराते है  और इनके बॉलीवुड में सबसे पसंदीदा सिंगर  उस्मानिया जी है  उनका सपना है कि यह एक बॉलीवुड सिंगर बने और बॉलीवुड में भी अपना नाम कमाए।  उनके संगीत गुरु अभय दान  जी महाराज है और प्रेरणा स्त्रोत  पिताजी जसमल जी  से प्रेरणा मिलती है।

Anil Nagori Achievement

अनिल नागौरी ने अपने जीवन में कई उपलब्धियां हासिल की सबसे बड़ी उपलब्धि तो यही होगी कि उन्होंने बहुत ही कम उम्र में संगीत के क्षेत्र में अपनी एक अलग ही पहचान बनाई है इनकी मधुर आवाज में लोगों के दिलों में इस तरीके से राज किया कि लोग इनके गानों को सुनना काफी ज्यादा पसंद करते हैं।  

अनिल नागोरी को जब पहली बार भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से मिलने का मौका मिला, यह दिन इनके लिए काफी बड़ी उपलब्धि थी उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री ने अपने एक गाने को साझा किया, जो इन्होंने मोदी जी के लिए गया था इसके अलावा अनिल नागौरी को सबसे बड़ी खुशी तब मिली जब भारत के प्रधानमंत्री ने उनकी वीडियो और फोटो को अपने पोस्ट किया। 

अनिल नागोरी के जीवन में एक नया मोड़ तब आता है जब बालोतरा के पास यह एक बालाजी मंदिर में रामदेव जी का भजन गाते हैं और वहां से  इनको सफलता हासिल हुई। 

अनिल नागौरी को मिली कुछ सामान

 2018 में कला रत्न से सम्मानित किया गया

 2018 में घर में राजस्थान राज्य में पहले स्थान को हासिल करना मुझे सबसे बड़ी उपलब्धि थी

आपको हमारे द्वारा लिखी गयी Anil Nagori Biography in Hindi  पोस्ट अच्छी लगी हो तो, आप हमारे Hindi Biography 2021 वेबसाइट की सदस्यता लेने के लिए Right Side मे दिखाई देने वाले Bell Icon को दबाकर Subscribe जरूर करे। 

5 COMMENTS

  1. अनिल नागोरी हमें भी सिखा दीजिएगा हमारा नाम Lavkush Bhai हम भी छोटे-मोटे कलाकार आवाज के हैं लखनऊ अमेठी उत्तर प्रदेश7571921692

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here