Home कलाकार सोनल राईका का जीवन परिचय – Sonal Raika Biography In Hindi

सोनल राईका का जीवन परिचय – Sonal Raika Biography In Hindi

163
sonal raika jivani

आज के इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं सोनल राईका के जीवन परिचय के बारे में, हम इस पोस्ट में आपको Sonal Raika Biography, Jivani, Family, Education, Career की शुरूआत के बारे में इस पोस्ट में आपको बताएंगे।

Sonal Raika Biography And Wiki

नाम Sonal Raika
जन्म 17 मार्च
जन्म स्थान सिवाना, बाड़मेर
उपनाम सोना बाबू और झमकुड़ी
उम्र 22-23 साल
पैशा actor
शौक नाचना, गाना, कॉमेडी करना
जिगरी दोस्त ट्विंकिल वैष्णव
School जोधपुर से
collage नही पता
पिता हमीराराम राईका
माता नही पता
वैवाहिक स्थति अवैवाहित
धर्म हिन्दू
नागरिकता भारतीय
अवार्ड रमकुडी झमकुडी बेस्ट कॉमेडी अवार्ड
कमाई महिना 1 लाख से ज्यादा
वर्तमान आवास जोधपुर राजस्थान

        Sonal Raika Social media Accout

Social Media NameUser IDFollowers
Instagramsonal_raika116k Followers
FaceBookSonal Raika5.2 लाख Followers
YouTubeNot KnowNot Know
TwitterNot KnowNot Know

Sonal Raika Biography

राजस्थान मे अनेक ऐसे कलाकार हुये, जिन्होंने संगीत नृत्य और कॉमेडी के क्षेत्र में अपना नाम रोशन किया परंतु बहुत ही कम है  ऐसे कलाकार हैं जिन्होंने अपने कलाकारी के दम पर लोगों के दिलों में अपनी पहचान बनाई। 

 आज हम एक ऐसे कलाकार के बारे में बात करने वाले हैं जिन्होंने बचपन से ही अपने कार्य को साधना माना और बहुत ही कम उम्र में अपने पिताजी के पद चिन्हों पर चलते हुए, पूरे भारत में अपना नाम रोशन किया।  आज हम जिनकी बात कर रहे हैं उनका नाम सोनल राईका है जो राजस्थान के सबसे बड़े म्यूजिक कंपनी पीआरजी फिल्म स्टूडियो में काम करती है इन्हें अपनी कॉमेडी के माध्यम से भी काफी ज्यादा पहचान मिली।  लोग इनको सोना बाबू तथा झमकुड़ी के नाम से भी जानते हैं।  

 सोनल राईका को बचपन से ही संगीत से बड़ा प्रेम था तथा साथ ही साथ  नृत्य से बड़ा लगाव था  जब इनके पिताजी ने देखा की इनके  अंदर कहीं ना कहीं एक बहुत बड़ा कलाकार छिपा है तो इन्होंने इनको अपने साथ कार्यक्रमों में ले जाने लगे।   वहा  पर चल रहे गाने नृत्य के माध्यम से सोनल राईका अपनी प्रस्तुतियां देना प्रारंभ की। 

इसी तरीके से इन्होंने अपनी पूरी मेहनत और लगन से नृत्य कला में महारत हासिल कर लिया और पूरे भारत में अपना नाम कमाना शुरू कर दिया।  इन्हें राजस्थान के अलावा अन्य राज्यों से भी जहां प्रवासी राजस्थानी रहते हैं वहां से रात्रि जागरण तथा कार्यक्रम में प्रस्तुति देने की निमंत्रण आने लगे और इनकी प्रसिद्धि इसी तरह  फैलती गई।  

 सोनल राईका ने अपने पिताजी के साथ मात्र 10 साल की उम्र में प्रस्तुतियां देना प्रारंभ कर दी और इसी तरीके से इनकी मेहनत और लगन ने इनको आज इस मुकाम पर पहुंचा दिया, कि आज पूरे राजस्थान में इनका नाम कलाकारी के क्षेत्र  में लिया जाता है। 

उसके बाद सोनल राईका ने  पीआरजी म्यूजिक एंड फिल्म स्टूडियो  के डायरेक्टर सज्जन सिंह गहलोत से बात की और यहां पर काम करना शुरू किया।  यहां पर सज्जन सिंह जी गहलोत के अथक प्रयासों से इन्हें एक नई पहचान मिली और इनके वीडियो यूट्यूब पर आने लगे।  उसके बाद इन्होंने कॉमेडी भी करना शुरू किया जो काफी ज्यादा पॉपुलर हुई। 

 सोनल राईका को असली पहचान तब मिली, जब इन्होंने पीआरजी म्यूजिक एंड फिल्म स्टूडियो में काम करना शुरू किया, इन्हें यहां पर रमकुड़ी झमकुड़ी कार्यक्रम के माध्यम से एक अच्छी पहचान प्राप्त हुई जिसमें पंकज शर्मा के साथ उन्होंने काम किया।  

आज सोनम  राईका का एक ऐसे मुकाम पर है जहां पहुंचना हर कलाकार का सपना होता है इन्होंने कई कठिनाइयों के बावजूद अपने इस मुकाम को हासिल किया और पूरे शिद्दत के साथ अपने काम को प्राथमिकता दी।  इस वजह से आज राजस्थानी कलाकार के रूप में लोगों के दिलों में अपनी एक अलग छाप छोड़ चुकी है।  

Sonal Raika Birth, Place, Family, Education

सोनल राईका का जन्म 17 मार्च को राजस्थान के बाड़मेर जिले के गढ़ सिवाना में हुआ।  इनका निकनेम सोना बाबू और झमकुड़ी है ये नाम इनको  पीआरजी म्यूजिक एंड फिल्म स्टूडियो मे कॉमेडी के तौर पर मिला हुआ है। 

सोनल राईका के पिताजी का नाम हमीरा राम राइका है जो एक प्रसिद्ध कलाकार है सोनल राईका को भी इस क्षेत्र  में इनके पिताजी ने ही लाया, इनके परिवार में इनके माता-पिता और इनके भाई हैं इन्होंने अपनी शिक्षा जोधपुर से प्राप्त की।  वर्तमान में इनका निवास स्थान जोधपुर ही है। 
सोनल राईका की अभी शादी नही हुई है ये अभी अवैवाहित है जिनकी खास दोस्त ट्विंकिल वैष्णव है जो इनके साथ ही PRG मे काम करती है। 

Sonal Raika Career Journey

प्रत्येक कलाकार का जीवन संघर्षों से भरा रहता है इसमें वह अपनी पूरी मेहनत से उस मुकाम को हासिल करता है इस मुकाम तक वह पहुंचना चाहता है सभी कलाकार पूरे प्रयास के साथ अपनी कलाकारी के दम पर उस मुकाम को हासिल करने में लगे रहते हैं, बहुत सारे कलाकार इस मुकाम को हासिल कर ही लेते हैं तो कुछ लोग यहां तक पहुंचने का सिर्फ सपना ही देखते हैं। 

लेकिन सोनल राईका ने अपनी मेहनत और संघर्ष की बदौलत इस मुकाम को हासिल किया और राजस्थानी कलाकारी के तौर पर पूरे राजस्थान में अपनी पहचान बनाई। 

 सोनल राईका के कैरियर की शुरुआत मात्र 10 साल की उम्र से मनी जाती है इनहोने दस साल की उम्र मे ही आपने पिताजी के साथ कार्यकमो मे जाना शुरू कर दिया था सोनल राईका के पिताजी भी एक कलाकार थे जो राजस्थानी कार्यक्र्म किया कराते थे।  

सर्वप्रथम इनके पिताजी को लगा की मेरी बेटी मे कई न कई एक बहुत बड़ा कलाकारी छुपी हुई है जिसे मुझे बाहर निकालना है क्योकि उस समय सोनल का डांस मे काफी मन हुआ करता था जिस कारण उनके पिताजी को लगा की ये आगे जाकर अपना और मेरी समाज का नाम जरूर रोशन करेगी। 

जब इनके पिताजी को लगा की सोनल के टेलेंट को लोगो के सामने दिखाना चाहिए तो उन्होने अपने साथ उनको भी कार्यक्रमों मे ले जाना प्रारम्भ कर दिया और यही से सोनल राईका को अपनी एक अलग पहचान मिली। सोनल राईका मच पर नाचना और गाना शुरू कर दिया। 

धीरे धीरे इनके डांस की काफी तारीफ होने लगी तो इनको राजस्थान के अलावा अन्य राज्यो से भी कार्यकमो के बुलावे आने लगे, जहा अपने प्रवासी राजस्थानी भाई-बंधु रहते है। इसके बाद धीरे-धीरे इनहोने बड़ी मेहनत और लगन से लोगो के दिलो मे अपनी एक अलग ही छाप छोड़ दी। इसी तरह इनके ये कार्यक्र्म चलते रहे।  

 आखिरकार सोनल राईका कोई एक  मंच मिल गया, जहा से  इनको  असली पहचान मिली इन्होंने पीआरजी फिल्म स्टूडियो को ज्वाइन किया और यह  पर सज्जन सिंह गहलोत जी  के सपोर्ट से आगे बढ़ी।  पीआरजी फिल्म स्टूडियो में शुरुआत में उन्होंने विवाह गीत,राजस्थानी वीडियो में काम किया, उसके बाद उन्होंने कॉमेडी के क्षेत्र  में भी अपना कदम रखा।  इन्होंने ट्विंकल वैष्णव और पंकज शर्मा के साथ अपनी कॉमेडी शुरू की।  जिसमें इन्होंने सोना बाबू की रूप में भूमिका निभाई। 

सोना बाबू के रूप में इन्होंने बहुत ही शानदार भूमिका निभाई और अपने किरदार को वाकई में बड़ी खूबी के साथ निभाया।  इसी तरीके से इन्होंने कॉमेडी के साथ साथ राजस्थानी एल्बम पर भी काम किया और अपनी एक अलग पहचान बनाई। 

इसी तरीके से पीआरजी फिल्म स्टूडियो से जुड़ने के बारे में काफी पहचान मिली।   जब भी कहीं कोई बड़ा राजस्थानी कार्यक्रम होता था तो टिंकल वैष्णव सोनल राईका और पंकज शर्मा को जरूर बुलाया जाता था और यह जहां पर कार्यक्रम करते वहां पर लाखों की संख्या में लोगों की भीड़ लग जाती और लोग इनको देखने के लिए तथा उनके कार्यक्रम को सुनाने के लिए लोग कई किलोमीटर दूर से आया करते हैं।  

इस तरीके से सोनल राईका ने अपने लगन और पूरी मेहनत के साथ अपने तथा अपने समाज का नाम रोशन किया और आज एक सफल कलाकार के रूप में पूरे भारत में प्रसिद्ध हुई।  
हमारी टीम की तरफ से सोनल राईका को शुभकामनाएं देते हैं कि वह इसी तरीके से अपने जीवन में नए मुकाम हासिल करें तथा अपने सभी सपनों को पूरा करें और हमारे राजस्थानी संस्कृति और कला को रोशन करें। 

Sonal Raika Achievement

सोनल राईका को कई  सारी उपलब्धियां हासिल है इन्हे कई मंचो से राजस्थानी कला और संस्कृति को आगे बढ़ाने के लिए अवार्ड मिले हुए हैं इन्हें अपनी कला के बदोलत लोगो का सम्मान और प्यार प्राप्त है।  

सोनल राईका ने अपने जीवन मे अपने सारे सपने पूरे किए जो इनके पिताजी ने और इनहोने खुद देखे। सोनल राईका ने राजस्थानी कला और संस्कति को जीवित तथा बनाए हुये रखा। 

सोनल राईका को सबसे बड़ी उपलब्धि लोगो के अपार प्यार और स्नेह से प्राप्त है जो कही न कही इनके कार्यक्रमों और विडियो मे नजर आता है। 
सोनल राईका को राईका समाज का गौरव भी माना जाता है।

आपको हमारे द्वारा लिखी गयी Sonal Raika Biography in Hindi  पोस्ट अच्छी लगी हो तो, आप हमारे Hindi Biography 2021 वेबसाइट की सदस्यता लेने के लिए Right Side मे दिखाई देने वाले Bell Icon को दबाकर Subscribe जरूर करे। 

Search Releted-

Sonal Raika biography

Sonal Raika biography in hindi

Sonal Raika bio

Sonal Raika ke bare main jankari

Sonal Raika ka ganv konsa hai

Sonal Raika ki shadi

Sonal Raika ke bare main

Sonal Raika Song

Sonal Raika kon hai

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here