Home राजनेता Ravindra Singh Bhati Biography in Hindi Mobile Number, Wife, Age, Village, JNVU

Ravindra Singh Bhati Biography in Hindi Mobile Number, Wife, Age, Village, JNVU

889
Ravindra Singh JNVU King

आज के इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं रवीद्र सिंह भाटी के जीवन परिचय के बारे में, हम इस पोस्ट में आपको Ravindra Singh Bhati Biography in Hindi Mobile Number, Wife, Age, Village, JNVU की शुरूआत के बारे में इस पोस्ट में आपको बताएंगे।

Ravindra Singh Bhati Biography And Wiki

नाम रवीद्र सिंह भाटी
जन्म 3 दिसम्बर 1990 दुधोड़ा
पता दुधोड़ा, बाड़मेर
उम्र 30 years
उपनाम JNVU King
पिता Not Know
माता Not Know
प्राथमिक शिक्षा मयूर नोबल अकेडमी सेनियर सेकेन्डरी स्कूल बाड़मेर
कॉलेज शिक्षा BA – LLB मोहनलाल सुखड़िया विश्वविध्यालय, JNVU LLB 2015
नागरिकता भारतीय
धर्म हिन्दू
विवाह विवाहित
भाषा हिन्दी, इंग्लिश, मायड भाषा
पेशा छात्र नेता

Ravindra Singh Bhati Social Media Account

Social Media Name Social Media ID Followers
Instagramravindrabhati_9237k Followers
FacebookRavindra Singh Bhati108k Followers
Twitter@RavindraJnvu_922.6k Followers

रवीद्र सिंह भाटी के जीवन परिचय

जातिवाद से कोसों दूर रविंद्र सिंह भाटी आज पश्चिमी राजस्थान के सबसे बड़े विश्वविद्यालय “जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय” के अध्यक्ष है इन्होंने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ा और एक भारी मतों से विजय हासिल कर सभी को चौंका दिया। सरल स्वभाव के रविंद्र सिंह भाटी विश्वविद्यालय में रुके हुए या अटके हुए कामों को करवाने के लिए जय नारायण विश्वविद्यालय के कुलपति से कई बार आपस में झगड़ते हुए भी नजर आए हैं सभी समाज के छात्रों को अपने साथ लेकर चलने वाले रविंद्र सिंह भाटी स्वभाव की विशेष धनी है उनके मार्गदर्शन में आज विश्वविद्यालय शिक्षा के क्षेत्र में काफी आगे बढ़ा है।

पश्चिमी राजस्थान के सबसे बड़े विश्वविद्यालय के अध्यक्ष होने के बावजूद भी रविंद्र सिंह भाटी अपनी मातृभाषा का उपयोग करते हैं इन्हें अपनी मातृभाषा की भाषा से इतना लगाव है कि जब कभी भी कई भाषण देने या किसी कार्यक्रम में जाते हैं तो मंच पर अपनी मातृभाषा में ही भाषण देते हैं वैसे भी हमारे राजस्थान में मायड़ भाषा के शब्द इसलिए मीठे होते हैं कि लोग इस भाषा को सुनना पसंद करते हैं और यह खूबी भी है कि रविंद्र सिंह भाटी जैसी एक महान शख्सियत इस भाषा का अध्यक्ष होने के बावजूद भी उपयोग करते हैं हमारे लिए गर्व की बात है।

रविंद्र सिंह भाटी ने विश्वविद्यालय में कई बार जमीन के मुद्दों को लेकर भी आंदोलन किए तथा छात्रों की पढ़ाई की विषयों पर भी काफी ज्यादा जोर दिया, कई बार यह  यूनिवर्सिटी कुलपति को शिकायत करते हुए देखे गए।

 रविंद्र सिंह भाटी बाड़मेर जिले के  के रहने वाले है कभी किसी ने भी नहीं सोचा था की बाड़मेर जिले से कोई पश्चिमी राजस्थान की सबसे बड़ी यूनिवर्सिटी जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय का अध्यक्ष बनेगा, परंतु इनकी ईमानदारी और निष्ठा के कारण छात्रों ने 57 साल के लंबे इंतजार के बाद निर्दलीय उम्मीदवार को को अध्यक्ष बनाया।  

Ravindra Singh Bhati Birth, Wife, Age, Village

रविंद्र सिंह भाटी का जन्म बाड़मेर जिले के दुधोड़ा गांव में 3 दिसंबर 1990 को हुआ, इन्होंने अपनी प्राथमिक शिक्षा मयूर नोबल्स एकेडमी बाड़मेर से पूरी की उसके बाद इन्होंने अपनी आगे की पढ़ाई मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय से b.a. एलएलबी की, इसके बाद इन्होंने जोधपुर जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय से एलएलबी 2015 में शुरू की और 2016 में यह राजनीति में सक्रिय हो गए। रविंद्र सिंह भाटी मूल रूप से बाड़मेर के रहने वाले हैं  रविंद्र सिंह भाटी विवाहित है। 

रवीद्र सिंह भाटी का JNVU अध्यक्ष तक का सफर

रविंद्र सिंह भाटी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा बाड़मेर जिले के मयूर एकेडमी सीनियर सेकेंडरी स्कूल से पूरी की और उसके बाद इन्होंने अपनी आगे की पढ़ाई और मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय से की बाद में उन्होंने जोधपुर के जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय से एलएलबी की पढ़ाई प्रारंभ की और 2016 में उन्होंने छात्र हितों के लिए राजनीति में कदम रखा इसके बाद से यह छात्र हितों के लिए आवाज उठा उठाने लगे। यहीं से इनके सफर की शुरुआत होती है 2016 में जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय के अध्यक्ष रहे कुणाल सिंह भाटी की खास दोस्त भी रह चुके हैं रविंद्र सिंह भाटी इसी वजह से इनकी छात्रों के बीच एक अच्छी पहचान बन गई थी रविंद्र सिंह भाटि और कुणाल सिंह भाटी ने साथ-साथ प्राथमिक शिक्षा प्राप्त की थी।

रविंद्र सिंह भाटी सभी समाज के छात्रों को साथ में लेकर चलने की नीति रखते है यह सभी छात्रों को काफी ज्यादा प्रभावित किया, यह किसी भी समाज के छात्रों को छोटा बड़ा नहीं मानते थे सभी समाज को एक साथ लेकर चलने की इनकी एक खूबी शानदार खूबी है इस वजह से छात्रों ने इनको पसंद किया और उनके पक्ष में वोट भी किए ।

2019 में जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय में छात्रसंघ अध्यक्ष के चुनाव कराने का समय आया तब यहां पर कई छात्र संघ अध्यक्ष के लिए उम्मीदवारों ने अपने पर्चे भरे।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद रविंद्र सिंह भाटी को उम्मीदवार पद के लिए टिकट नहीं दिया तो इन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ने का फैसला किया और बाकी उम्मीदवारों को भारी टक्कर देते हुए 1294 वोटों से जीत हासिल की। 

रविंद्र सिंह भाटी ने अपनी जीत का पूरा सम्मा उन छात्रों को दिया, जो इनके साथ खड़े थे और इन पर विश्वास जताकर इनको अध्यक्ष बनाया।  

 जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय के इतिहास में यह पहली बार हुआ था जब किसी निर्दलीय उम्मीदवार ने इतने ज्यादा वोटों से जीत हासिल की ।

इसी जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय से अशोक गहलोत और भारत की जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने भी अपने राजनीतिक कैरियर की शुरुआत की थी यहीं से वह अध्यक्ष बन कर राजनीति के इस मुकाम पर पहुंचे जहां से वर्तमान समय में रविंद्र सिंह भाटी अध्यक्ष है 

रविंद्र सिंह भाटी जबसे जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय के अध्यक्ष बनने से लेकर अब तक लगातार छात्रों के हितों में तथा छात्रों के उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए उनके हक की लड़ाई लगातार लड़ते आ रहे हैं हाल ही में इन्होंने जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय की जमीन के मुद्दे को लेकर काफी बड़ा आंदोलन किया था इसमें सभी साथियों ने उनका समर्थन किया और इस वजह से यह इस मुद्दे में जीत भी हासिल कर पाए।

FAQ About Ravindra Singh Bhati

Q. Ravindra Singh Bhati contact No

Ans. Not Know

Q. Ravindra Singh Bhati salary

Ans. Not Know

Q. Ravindra singh bhati instagram

Ans. ravindrabhati_9

Q. Ravindra Singh Bhati wife photo

Ans. Not Know

Q. Ravindra Singh Bhati party

Q. Ravindra Singh Bhati dob

Ans. 3 Dec. 1990

Q. Ravindra Singh Bhati birthday

Ans. 3 Dec.

आपको हमारे द्वारा लिखी गयी Ravindra Singh Bhati Biography in Hindi  पोस्ट अच्छी लगी हो तो, आप हमारे Hindi Biography 2021 वेबसाइट की सदस्यता लेने के लिए Right Side मे दिखाई देने वाले Bell Icon को दबाकर Subscribe जरूर करे।

 

20 COMMENTS

  1. bhati kabse rajput ho gaye?? bhati to gurjar hote hai bhatner ncr poora gurjar bhatiyo se bhara pada hai,gurjaro se bhati hata do to aadhe gurjar to bhati hi hain

  2. Mujhe inke number Chahiye please hkm 🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻

  3. बहुत ही बढ़िया कार्य करते है भैया आप
    आपका व्यक्तिगत दुर्भास नंबर चाहिए था
    जरूरी है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here